डिअर जिंदगी || Dear Zindagi❤️

डिअर जिंदगी || Dear Zindagi❤️


Unlocking Inner Bliss: A Journey of Self-Discovery in 'Dear Zindagi


डिअर जिंदगी,

आसान नहीं होता हैं चेहरे के ऊपर चेहरा लगाना। अपनी तकलीफों को बनावटी हँसी से ढ़क लेना। लेकिन समय और हालात ने हमें ये गुण भी सीखा दिया।

शुक्रिया रहेगा ज़िंदगी आपका, जो आपने मुझे जीवन के इस पहलू से भी रुबरु करा दिया....

बचपन मे धीरे धीरे चलती दिखती जिंदगी अचानक कब भागना शुरू कर देती है....पता भी नही चलता गलत कहते हैं लोग कि वक्त  हर ज़ख्म  की दवा है। दिल पर लगे कुछ ज़ख्म ऐसे भी होते हैं जिनकी टीस वक्त के साथ भी कम नहीं होती। आप ज़िंदा तो होते हैं, लेकिन जीने का मन नहीं करता। आप मुस्कुराते तो हैं लेकिन हर मुस्कुराहट में सैंकड़ों सिसकियों का दर्द भरा होता है। आप मरना चाहते हैं, लेकिन मर नहीं सकते। आप जीना नहीं चाहते, लेकिन फिर भी आपको जीना पड़ता है। आपका वजूद आपको कोसता है... और अपने ही चेहरे से ख़ौफ़ लगने लगता है....


फ़िक्र है सबको खुद को सही साबित करने की,

जैसे ये ज़िन्दगी, ज़िन्दगी नहीं, इल्ज़ाम हो कोई....


बेकद्री करने वालों को अपना साया तक मयस्सर ना होने दीजिए,

फिर चाहे वो रोयें, चीखें , चिल्लाएं या फिर मर जाएं..


जितना जख़्म कुरेदा है उतना ही लहू टपकाया है,

खैर इस जख्म को नासूर भी तो मैंने ही बनाया है......


मैं दो कदम चलता हूँ और एक पल को रूक जाता हूँ, मगर इस एक पल में जिन्दगी मुझसे चार कदम आगे चली जाती है, 

मैं फिर दो कदम चलता हूँ और एक पल को रूकता हूँ, मगर जिन्दगी मुझसे फिर चार कदम आगे चली जाती है, 

जिन्दगी को जीतता देख मैं मुस्कुराता हूँ और जिन्दगी मेरी मुस्कराहट पर हैरान होती है, 

ये सिलसिला यूँही चलता रहा है, फिर एक दिन मुझको हँसता देख एक सितारे ने पुछा "तुम हारकर भी मुस्कुराते हो ,क्या तुम्हे दुःख नहीं होता हार का?"

तब मैंने कहा, मुझे पता है एक ऐसी सरहद आएगी जहां से जिन्दगी चार तो क्या एक कदम भी आगे नहीं जा पायेगी और तब जिन्दगी मेरा इंतज़ार करेगी और मैं तब भी अपनी रफ़्तार से यूंही चलता रुकता वहां पहुंचूंगा .........

एक पल रुक कर जिन्दगी की तरफ देख कर मुस्कुराऊंगा, बीते सफर को एक नज़र देख अपने कदम फिर बढ़ाऊंगा, ठीक उसी पल मैं जिन्दगी से जीत जाऊंगा, मैं अपनी हार पर मुस्कुराया था और अपनी जीत पर भी मुस्कुराऊंगा और जिन्दगी अपनी जीत पर भी मुस्कुरा पाई थी और अपनी हार पर भी मुस्कुरा पायेगी,

......बस तभी मैं जिन्दगी को जीना सिखाऊँगा.....



English Version ------->



Dear Zindagi,

It is not easy to put face on face. Covering your troubles with a fake smile. But time and circumstances taught us this quality as well.

Thank you life, you have made me aware of this aspect of life as well.

Life seems to be moving slowly in childhood when suddenly it starts running.... It is not even known that people say wrongly that time is the medicine for every wound. There are some wounds on the heart whose pain does not subside even with time. You are alive, but you don't feel like living. You smile but every smile is filled with the pain of hundreds of sobs. You want to die, but cannot die. You don't want to live, but still, you have to live. Your existence curses you... and you start feeling scared of your own face....


The concern is to prove oneself right to everyone,

As if this life is not life, there should be some blame...


Don't let those who do indecisiveness even have a shadow of you,

Then whether they cry, scream, shout or die..


The more the wound is scratched, the more blood is spilled,

Well, I have made this wound a canker too......


I walk two steps and stop for a moment, but in this one moment life goes four steps ahead of me,

I take two steps again and stop for a moment, but life again goes four steps ahead of me,

I smile seeing life winning and life is surprised at my smile,

This series has been going on like this, then one day seeing me smiling, a star asked, "You smile even after losing, don't you feel sad about the defeat?"

Then I said, I know that such a border will come from where life will not be able to go even a single step ahead and then life will wait for me and I will reach there even then walking at my own pace. .

I will stop for a moment and look at life and smile, taking a look at the past journey, I will take my step again, at the same moment I will win from life, I smiled at my defeat and I will smile at my victory and life will not even win at its victory. Was able to smile and will not be able to smile even at her defeat,

...... Only then I will teach life to live.....



Also Read : 

https://deshdeepak2000.blogspot.com/2023/07/%20%20%20Untold%20love.html



2 comments:

Powered by Blogger.